उत्तराखंड सत्ता संग्राम 2022: आज काशीपुर से खटीमा तक सीएम करेंगे दौरा, हरिद्वार में होगी संतों से मुलाकात

0
15
उत्तराखंड सत्ता संग्राम 2022: आज काशीपुर से खटीमा तक सीएम करेंगे दौरा, हरिद्वार में होगी संतों से मुलाकात


Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

सार

Uttarakhand Election 2022: रविववार को अपने दौरे के दौरान कई कार्यक्रमों में हिस्सा लेने के बाद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी विभागीय अधिकारियों के साथ मीटिंग करेंगे। खटीमा में रात्रि विश्राम के बाद सोमवार को सुबह साढ़े आठ बजे हेलीकाप्टर से देहरादून के लिए प्रस्थान करेंगे।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी (बीच में)
– फोटो : फाइल फोटो

ख़बर सुनें

सीएम पुष्कर सिंह धामी एक दिन के दौरे पर ऊधमसिंह नगर में रहेंगे। वह काशीपुर और खटीमा में कई कार्यक्रमों में शामिल होंगे। जिला प्रशासन से जारी कार्यक्रम के अनुसार सीएम धामी रविवार को काशीपुर हेलीपैड पहुंचेंगे। कार से वह उदयराज इंटर कालेज काशीपुर में विकास योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास करेंगे। काशीपुर से हेलीकाप्टर से वह अपराह्न एक बजे एकलव्य विद्यालय मैदान खटीमा पहुंचेंगे। कार से थारू विकास भवन खटीमा में युवाओं से बात करेंगे।

विभागीय अधिकारियों के साथ मीटिंग करेंगे
दोपहर बाद वह रामलीला ग्राउंड खटीमा में सहकारिता विभाग के ऋण वितरण मेले में शामिल होंगे। वह दोपहर साढ़े तीन से साढ़े चार बजे तक इंडियन मेडिकल एसोसिएशन और बार एसोसिएशन के पदाधिकारियों के साथ बैठक करेंगे। शाम पांच से छह बजे तक शक्ति केंद्र कार्यकर्ता बैठक में हिस्सा लेने के बाद विभागीय अधिकारियों के साथ मीटिंग करेंगे। खटीमा में रात्रि विश्राम के बाद अगले दिन सुबह साढ़े आठ बजे हेली कॉप्टर से देहरादून के लिए प्रस्थान करेंगे।

उत्तराखंड सत्ता संग्राम 2022: वाम दलों की नींव तो थी मजबूत, लेकिन नहीं बन पाया ‘लाल किला’

आज हरिद्वार में निरंजनी अखाड़ा आएंगे सीएम धामी
वहीं अपने दो दिन के दौरे से पहले मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी रविवार को पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी पहुंचेंगे। देवस्थानम बोर्ड भंग किए जाने पर यहां अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद की ओर से मुख्यमंत्री का अभिनंदन किया जाएगा। सीएम के आगमन को लेकर एसडीएम सदर पूरण सिंह राणा और पुलिस ने अखाड़े पहुंचकर सुरक्षा व्यवस्थाएं परखीं और अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्रीमहंत रविंद्रपुरी (श्री निरंजनी) के साथ कार्यक्रम स्थल का जायजा लिया। श्रीमहंत रविंद्रपुरी ने कहा कि देवस्थानम बोर्ड भंग कर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने साधु-संतों और तीर्थ पुरोहितों को उपहार दिया है। 

मुख्यमंत्री के दौरे से जनता को सौगात की उम्मीद
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के काशीपुर दौरे से जनता को ढेरों उम्मीदें हैं। उम्मीद जताई जा रहा है कि मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार काशीपुर आ रहे मुख्यमंत्री कोई बड़ी घोषणा कर सकते हैं। काशीपुर के बुद्धिजीवियों की शिकायत है कि बीते दो दशक में काशीपुर का उतना विकास नहीं हुआ, जितना होना चाहिए था। कहा जाता है कि सत्ताधारी पार्टियों ने काशीपुर की ओर ध्यान नहीं दिया। जिसके चलते यहां का विकास नहीं हो सका। काशीपुर पिछड़ता जा रहा है। पुष्कर सिंह धामी मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार काशीपुर आ रहे हैं। वह तराई को लेकर काफी संजीदा बताए जाते हैं। काशीपुर उनकी ओर आत्मीयता से इसलिए भी देखता है क्योंकि धामी खटीमा विधानसभा से विधायक हैं।

काशीपुर में इस समय कई समस्याएं हैं। जिला न बनने से विकास प्रभावित हो रहा है। स्वास्थ्य सेवाओं की उचित व्यवस्था न होने के चलते एम्स की स्थापना की जरूरत समझी जा रही है। नगर में अभी भी कई सड़कें टूटी हैं, कई बदहाल पड़ी हैं। सभी सड़कों की स्थिति में सुधार किए जाने की जरूरत है। शिक्षा के क्षेत्र में काशीपुर को आगे बढ़ाने के लिए शिक्षण संस्थानों की यहां स्थापना होना जरूरी है। ओवरब्रिज निर्माण समय से पूरा करने, धार्मिक स्थलों को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने की मांग भी प्रमुख है। इसी तरह की तमाम अन्य मांगें भी हैं।

काशीपुर के बुद्धिजीवियों का कहना है कि अगर काशीपुर को चारधाम यात्रा से जोड़ा जाए तो विकास की दिशा में यह महत्वपूर्ण कदम होगा। काशीपुर में सिखों का प्रसिद्ध ननकाना साहेब गुरुद्वारा है। गुरु नानक देव भी यहां आ चुके हैं। गौतम बुद्ध यहां एक साल रुके थे। चीनी यात्री व्हेगसांग ने अपने यात्रा वर्णन में काशीपुर का जिक्र किया है। गोविषाण टीले की खुदाई में छठी शताब्दी का मंदिर निकल चुका है। ऐतिहासिक और पौराणिक दृष्टि से काशीपुर बहुत समृद्ध है। ऐसे में इसे चारधाम यात्रा से जोड़ा जाना चाहिए।

हमारी मांग है कि मुख्यमंत्री काशीपुर को जिला बनाने की घोषणा करें। जैसा रिंग रोड रुद्रपुर में बन रहा है वैसा ही काशीपुर में भी बनाया जाए ताकि यहां की जनता को जाम से निजात मिले।
– नदीमउद्दीन, एडवोकेट

काशीपुर बीते कुछ सालों से हाशिये पर है। किच्छा में एम्स के सेटेलाइट सिस्टम की स्थापना करने की तैयारी चल रही है जबकि वहां से ज्यादा जरूरत काशीपुर में है। एम्स का सेटेलाइट सिस्टम काशीपुर में स्थापित किया जाना चाहिए।
– डॉ. अरविंद शर्मा, प्रदेश अध्यक्ष आईएमए

यह हैं काशीपुर की प्रमुख मांगें
-काशीपुर को जिला बनाया जाए
-काशीपुर में एम्स की स्थापना हो
-दोनों ओवरब्रिज का निर्माण जल्द से जल्द पूरा हो
-द्रोण नहर पर टू लेन बाईपास रोड का निर्माण कराया जाए
-प्रदेश पर्यटन दर्शिका में काशीपुर भी शामिल हो
-काशीपुर को हवाई सेवा से जोड़ा जाए
-नगर में सीवर ट्रीटमेंट की समस्या को हल किया जाए
-काशीपुर नगर निगम को अन्य निगमों के समान बजट मिले
-काशीपुर को शिक्षा का हब बनाने की दिशा में काम हो
-काशीपुर के उद्योगों को बढ़ावा दिया जाए। 

खटीमा में सीएम करेंगे युवाओं से संवाद
युवा करिअर जागरूकता विषय पर एक दिवसीय कार्यशाला थारु विकास भवन खटीमा में होगी। कार्यशाला में युवाओं की करिअर काउंसलिंग की जाएगी। जिला सेवायोजन अधिकारी आरके पंत ने बताया कि कार्यशाला में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी युवाओं से करिअर के बारे में संवाद करेंगे। सेवायोजन विभाग ने युवाओं को कार्यशाला में आमंत्रित किया है।

विस्तार

सीएम पुष्कर सिंह धामी एक दिन के दौरे पर ऊधमसिंह नगर में रहेंगे। वह काशीपुर और खटीमा में कई कार्यक्रमों में शामिल होंगे। जिला प्रशासन से जारी कार्यक्रम के अनुसार सीएम धामी रविवार को काशीपुर हेलीपैड पहुंचेंगे। कार से वह उदयराज इंटर कालेज काशीपुर में विकास योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास करेंगे। काशीपुर से हेलीकाप्टर से वह अपराह्न एक बजे एकलव्य विद्यालय मैदान खटीमा पहुंचेंगे। कार से थारू विकास भवन खटीमा में युवाओं से बात करेंगे।

विभागीय अधिकारियों के साथ मीटिंग करेंगे

दोपहर बाद वह रामलीला ग्राउंड खटीमा में सहकारिता विभाग के ऋण वितरण मेले में शामिल होंगे। वह दोपहर साढ़े तीन से साढ़े चार बजे तक इंडियन मेडिकल एसोसिएशन और बार एसोसिएशन के पदाधिकारियों के साथ बैठक करेंगे। शाम पांच से छह बजे तक शक्ति केंद्र कार्यकर्ता बैठक में हिस्सा लेने के बाद विभागीय अधिकारियों के साथ मीटिंग करेंगे। खटीमा में रात्रि विश्राम के बाद अगले दिन सुबह साढ़े आठ बजे हेली कॉप्टर से देहरादून के लिए प्रस्थान करेंगे।

उत्तराखंड सत्ता संग्राम 2022: वाम दलों की नींव तो थी मजबूत, लेकिन नहीं बन पाया ‘लाल किला’

आज हरिद्वार में निरंजनी अखाड़ा आएंगे सीएम धामी

वहीं अपने दो दिन के दौरे से पहले मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी रविवार को पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी पहुंचेंगे। देवस्थानम बोर्ड भंग किए जाने पर यहां अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद की ओर से मुख्यमंत्री का अभिनंदन किया जाएगा। सीएम के आगमन को लेकर एसडीएम सदर पूरण सिंह राणा और पुलिस ने अखाड़े पहुंचकर सुरक्षा व्यवस्थाएं परखीं और अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्रीमहंत रविंद्रपुरी (श्री निरंजनी) के साथ कार्यक्रम स्थल का जायजा लिया। श्रीमहंत रविंद्रपुरी ने कहा कि देवस्थानम बोर्ड भंग कर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने साधु-संतों और तीर्थ पुरोहितों को उपहार दिया है। 

मुख्यमंत्री के दौरे से जनता को सौगात की उम्मीद

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के काशीपुर दौरे से जनता को ढेरों उम्मीदें हैं। उम्मीद जताई जा रहा है कि मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार काशीपुर आ रहे मुख्यमंत्री कोई बड़ी घोषणा कर सकते हैं। काशीपुर के बुद्धिजीवियों की शिकायत है कि बीते दो दशक में काशीपुर का उतना विकास नहीं हुआ, जितना होना चाहिए था। कहा जाता है कि सत्ताधारी पार्टियों ने काशीपुर की ओर ध्यान नहीं दिया। जिसके चलते यहां का विकास नहीं हो सका। काशीपुर पिछड़ता जा रहा है। पुष्कर सिंह धामी मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार काशीपुर आ रहे हैं। वह तराई को लेकर काफी संजीदा बताए जाते हैं। काशीपुर उनकी ओर आत्मीयता से इसलिए भी देखता है क्योंकि धामी खटीमा विधानसभा से विधायक हैं।

काशीपुर में इस समय कई समस्याएं हैं। जिला न बनने से विकास प्रभावित हो रहा है। स्वास्थ्य सेवाओं की उचित व्यवस्था न होने के चलते एम्स की स्थापना की जरूरत समझी जा रही है। नगर में अभी भी कई सड़कें टूटी हैं, कई बदहाल पड़ी हैं। सभी सड़कों की स्थिति में सुधार किए जाने की जरूरत है। शिक्षा के क्षेत्र में काशीपुर को आगे बढ़ाने के लिए शिक्षण संस्थानों की यहां स्थापना होना जरूरी है। ओवरब्रिज निर्माण समय से पूरा करने, धार्मिक स्थलों को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने की मांग भी प्रमुख है। इसी तरह की तमाम अन्य मांगें भी हैं।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here