चारधाम यात्रा 2022: पर्वतीय मार्गों पर वाहनों की संचालन अवधि चार घंटे बढ़ी, जानिए अब क्या होगा समय?

0
0
चारधाम यात्रा 2022: पर्वतीय मार्गों पर वाहनों की संचालन अवधि चार घंटे बढ़ी, जानिए अब क्या होगा समय?


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, देहरादून
Published by: रेनू सकलानी
Updated Wed, 04 May 2022 12:41 PM IST

सार

वाहन संचालक भी चारधाम यात्रा मार्ग पर वाहनों के संचालन की अवधि बढ़ाने की मांग कर रहे थे। इसके अलावा बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं के आने की संभावना है। जिसे देखते हुए सरकार भी चाहती है कि यात्रा में कम से कम ठहराव रहे।

ख़बर सुनें

 चारधाम यात्रा में आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए प्रदेश सरकार ने पर्वतीय मार्गों पर वाहनों के संचालन की अवधि चार घंटे बढ़ा दी है। सुबह चार बजे से रात 10 बजे तक वाहनों के संचालन की अनुमति देने का निर्णय लिया गया है। अभी तक सुबह छह से रात आठ बजे तक ही वाहनों के संचालन की अनुमति थी।

परिवहन आयुक्त रणवीर सिंह चौहान के मुताबिक वर्तमान में चारधाम यात्रा के लिए यात्रा चैक पोस्टों का सुचारु रूप से संचालन शुरू हो गया है। इस वर्ष चारधाम यात्रा में बड़ी संख्या में यात्रियों के आने की संभावना है। कहा कि चारधाम यात्रा मार्ग में काफी सुधार हुआ है।

 

इसे देखते हुए चारधाम यात्रा में पर्वतीय मार्गों पर सुबह चार बजे से रात्रि में 10 बजे तक वाहनों के संचालन की अनुमति दी गई है। उन्होंने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि यात्रा पर आने वाले श्रद्धालुओं व यात्रियों को किसी प्रकार की असुविधा नहीं  होनी चाहिए।

समय बढ़ाने की हो रही थी मांग

विस्तार

 चारधाम यात्रा में आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए प्रदेश सरकार ने पर्वतीय मार्गों पर वाहनों के संचालन की अवधि चार घंटे बढ़ा दी है। सुबह चार बजे से रात 10 बजे तक वाहनों के संचालन की अनुमति देने का निर्णय लिया गया है। अभी तक सुबह छह से रात आठ बजे तक ही वाहनों के संचालन की अनुमति थी।

परिवहन आयुक्त रणवीर सिंह चौहान के मुताबिक वर्तमान में चारधाम यात्रा के लिए यात्रा चैक पोस्टों का सुचारु रूप से संचालन शुरू हो गया है। इस वर्ष चारधाम यात्रा में बड़ी संख्या में यात्रियों के आने की संभावना है। कहा कि चारधाम यात्रा मार्ग में काफी सुधार हुआ है।

 

इसे देखते हुए चारधाम यात्रा में पर्वतीय मार्गों पर सुबह चार बजे से रात्रि में 10 बजे तक वाहनों के संचालन की अनुमति दी गई है। उन्होंने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि यात्रा पर आने वाले श्रद्धालुओं व यात्रियों को किसी प्रकार की असुविधा नहीं  होनी चाहिए।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here