तीन मई को खुलेंगे यमुनोत्री के कपाट: मां यमुना की डोली को विदा करने के लिए धाम तक छोड़ने जाएंगे भाई शनिदेव

0
1
तीन मई को खुलेंगे यमुनोत्री के कपाट: मां यमुना की डोली को विदा करने के लिए धाम तक छोड़ने जाएंगे भाई शनिदेव


संवाद न्यूज एजेंसी, बडकोट (उत्तरकाशी)
Published by: रेनू सकलानी
Updated Thu, 07 Apr 2022 11:35 AM IST

सार

भगवान आशुतोष के द्वादश ज्योतिर्लिंगों में 11वें केदारनाथ धाम के कपाट छह मई को सुबह 6.25 बजे बृष लग्न में खोले जाएंगे। वहीं इससे पहले यमुनोत्री के कपाट तीन मई को 12 बजकर 15 मिनट पर श्रद्वालुओं के लिए खोल दिए जाएंगे।

ख़बर सुनें

चारधाम के पहले प्रमुख तीर्थधाम यमुनोत्री के कपाट तीन मई को अक्षय तृतीया के पावन पर्व खुलेंगे। कपाट 12 बजकर 15 मिनट पर श्रद्वालुओं के लिए खोल दिए जाएंगे। इससे पूर्व मां यमुना की डोली सुबह 8 बजकर 30 मिनट पर अपने शीतकालीन प्रवास खरशाली से यमुनोत्री के लिए प्रस्थान करेगी।
 

मां यमुना की डोली विदा करने के लिए उनके भाई शनिदेव समेश्वर देवता की डोली भी यमुनोत्री धाम तक छोड़ने जाएगी। मंदिर समिति के सचिव सुरेश उनियाल ने बताया कि खरशाली में मां यमुना की विदाई व यमुनोत्री में पहुंचने की स्वागत की तैयारिया शुरु हो गई है। खरशाली गांव में स्थित यमुना मंदिर परिसर मे कपाट खोलने की तिथि तय की गई।

ये भी पढ़ें…इस सीट से उपचुनाव लड़ सकते हैं सीएम धामी:  सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो के निकाले जा रहे हैं सियासी मायने

इस मौके सुरेश उनियाल, कृतेश्वर उनियाल, लखन प्रसाद, दुर्गेश उनियाल आदि मौजूद थे। बता दें, भगवान आशुतोष के द्वादश ज्योतिर्लिंगों में 11वें केदारनाथ धाम के कपाट छह मई को सुबह 6.25 बजे बृष लग्न में खोले जाएंगे। इसके बाद आराध्य की छह माह की पूजा-अर्चना धाम में ही होगी। बाबा केदार की पंचमुखी चल विग्रह उत्सव डोली शीतकालीन गद्दीस्थल ओंकारेश्वर मंदिर ऊखीमठ से दो मई को अपने धाम केदारनाथ के लिए प्रस्थान करेगी।

विस्तार

चारधाम के पहले प्रमुख तीर्थधाम यमुनोत्री के कपाट तीन मई को अक्षय तृतीया के पावन पर्व खुलेंगे। कपाट 12 बजकर 15 मिनट पर श्रद्वालुओं के लिए खोल दिए जाएंगे। इससे पूर्व मां यमुना की डोली सुबह 8 बजकर 30 मिनट पर अपने शीतकालीन प्रवास खरशाली से यमुनोत्री के लिए प्रस्थान करेगी।

 

मां यमुना की डोली विदा करने के लिए उनके भाई शनिदेव समेश्वर देवता की डोली भी यमुनोत्री धाम तक छोड़ने जाएगी। मंदिर समिति के सचिव सुरेश उनियाल ने बताया कि खरशाली में मां यमुना की विदाई व यमुनोत्री में पहुंचने की स्वागत की तैयारिया शुरु हो गई है। खरशाली गांव में स्थित यमुना मंदिर परिसर मे कपाट खोलने की तिथि तय की गई।

ये भी पढ़ें…इस सीट से उपचुनाव लड़ सकते हैं सीएम धामी:  सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो के निकाले जा रहे हैं सियासी मायने

इस मौके सुरेश उनियाल, कृतेश्वर उनियाल, लखन प्रसाद, दुर्गेश उनियाल आदि मौजूद थे। बता दें, भगवान आशुतोष के द्वादश ज्योतिर्लिंगों में 11वें केदारनाथ धाम के कपाट छह मई को सुबह 6.25 बजे बृष लग्न में खोले जाएंगे। इसके बाद आराध्य की छह माह की पूजा-अर्चना धाम में ही होगी। बाबा केदार की पंचमुखी चल विग्रह उत्सव डोली शीतकालीन गद्दीस्थल ओंकारेश्वर मंदिर ऊखीमठ से दो मई को अपने धाम केदारनाथ के लिए प्रस्थान करेगी।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here