नकली दवाओं संग एक गिरफ्तार : एसटीएफ ने गोदामों पर मारे छापे, नामी कंपनियों के लेबल लगाकर बनाई जा रही थीं दवाएं

0
2
नकली दवाओं संग एक गिरफ्तार : एसटीएफ ने गोदामों पर मारे छापे, नामी कंपनियों के लेबल लगाकर बनाई जा रही थीं दवाएं


Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

ख़बर सुनें

हरिद्वार के रुड़की क्षेत्र में गुरुवार को फिर नकली दवाओं का बड़ा जखीरा पकड़ा गया है। एसटीएफ ने वहां पांच गोदामों पर छापे मारे थे। वहां से एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया, जबकि एक अन्य भाग निकला। एसटीएफ ने गोदामों से लाखों रुपये का कच्चा माल बरामद किया है।

ये दवाएं नामी कंपनियों के लेबल लगाकर बनाई जा रही थीं। एसटीएफ ने इनके अन्य साथियों की तलाश भी शुरू कर दी है। एसएसपी एसटीएफ अजय सिंह ने बताया कि पिछले माह लक्सर क्षेत्र में नकली दवा बनाने का भंडाफोड़ किया गया था। इसके बाद लगातार एसटीएफ ऐसी गतिविधियों पर नजर बनाए हुए थी।

एसटीएफ की टीम को रुड़की के इकबालपुर में नकली दवा बनाने के बारे में जानकारी मिली थी। इसी सूचना के आधार पर वहां पांच गोदामों पर छापे मारे गए। यहां एक व्यक्ति माल के साथ गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार व्यक्ति का नाम देहरादून के प्रेमनगर निवासी नितिन जैन के रूप में हुई है, जबकि इसका रुड़की के रामनगर निवासी लोकेश गुलाटी फरार हो गया।

इन गोदामों में देश की बड़ी कंपनी की विभिन्न नामी दवाओं के लेबल लगाए गए हैं। यह दवाएं कई रोगों के उपचार में काम आती हैं। पूछताछ में पता चला कि गोदाम उन्होंने किराये पर लिए हुए थे। इनमें विशाल नाम के व्यक्ति का नाम भी सामने आया है। एसटीएफ जानकारी जुटानी शुरू कर दी है। आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। शुक्रवार को उसको कोर्ट में पेश किया जाएगा। 

पांच लाख गोलियां बरामद हुईं 

पहले भी गिरफ्तार हुए थे चार लोग 

लक्सर क्षेत्र में भी एसटीएफ ने इसी तरह के गोदाम में छापा मारा था। वहां पर बंद पड़ी फैक्टरी में दवाएं बनाई जा रही थीं। इस मामले में एसटीएफ ने चार लोगों को गिरफ्तार किया था। इन गोदामों से भी लाखों की संख्या में गोलियां और रैपर बरामद हुए थे। एसटीएफ अब भी इस मामले की जांच कर रही है। 

विस्तार

हरिद्वार के रुड़की क्षेत्र में गुरुवार को फिर नकली दवाओं का बड़ा जखीरा पकड़ा गया है। एसटीएफ ने वहां पांच गोदामों पर छापे मारे थे। वहां से एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया, जबकि एक अन्य भाग निकला। एसटीएफ ने गोदामों से लाखों रुपये का कच्चा माल बरामद किया है।

ये दवाएं नामी कंपनियों के लेबल लगाकर बनाई जा रही थीं। एसटीएफ ने इनके अन्य साथियों की तलाश भी शुरू कर दी है। एसएसपी एसटीएफ अजय सिंह ने बताया कि पिछले माह लक्सर क्षेत्र में नकली दवा बनाने का भंडाफोड़ किया गया था। इसके बाद लगातार एसटीएफ ऐसी गतिविधियों पर नजर बनाए हुए थी।

एसटीएफ की टीम को रुड़की के इकबालपुर में नकली दवा बनाने के बारे में जानकारी मिली थी। इसी सूचना के आधार पर वहां पांच गोदामों पर छापे मारे गए। यहां एक व्यक्ति माल के साथ गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार व्यक्ति का नाम देहरादून के प्रेमनगर निवासी नितिन जैन के रूप में हुई है, जबकि इसका रुड़की के रामनगर निवासी लोकेश गुलाटी फरार हो गया।

इन गोदामों में देश की बड़ी कंपनी की विभिन्न नामी दवाओं के लेबल लगाए गए हैं। यह दवाएं कई रोगों के उपचार में काम आती हैं। पूछताछ में पता चला कि गोदाम उन्होंने किराये पर लिए हुए थे। इनमें विशाल नाम के व्यक्ति का नाम भी सामने आया है। एसटीएफ जानकारी जुटानी शुरू कर दी है। आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। शुक्रवार को उसको कोर्ट में पेश किया जाएगा। 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here