रुद्रपुर: चलती ट्रेन के आगे सेल्फी ले रहे थे दो युवक, टक्कर से पटरी किनारे बह रहे नाले में गिरे, गई जान

0
27
रुद्रपुर: चलती ट्रेन के आगे सेल्फी ले रहे थे दो युवक, टक्कर से पटरी किनारे बह रहे नाले में गिरे, गई जान

सार

मृतकों में एक युवक 31वीं वाहिनी पीएसी में तैनात महिला कांस्टेबल का भाई था, जबकि दूसरा उसका साथी था।

देहरादून-काठगोदाम एक्सप्रेस की चपेट में आने से अल्मोड़ा के दो युवकों की मौत हो गई। दोनों युवक चलती ट्रेन के आगे सेल्फी ले रहे थे। ट्रेन की टक्कर से दोनों युवक रेलवे पटरी के किनारे बह रहे नाले में जा गिरे। मृतकों में एक युवक 31वीं वाहिनी पीएसी में तैनात महिला कांस्टेबल का भाई था, जबकि दूसरा उसका साथी था।

चलती ट्रेन के आगे सेल्फी ले रहे थे दोनों
पुलिस के मुताबिक, एडम स्कूल के निकट अल्मोड़ा निवासी लोकेश लोहनी (35) अपने साथी जल निगम कॉलोनी, अल्मोड़ा निवासी मनीष कुमार आर्या (25) के साथ शुक्रवार सुबह छह बजे अल्मोड़ा से रुद्रपुर के लिए निकला था। लोकेश 31वीं वाहिनी रुद्रपुर में तैनात अपनी कांस्टेबल बहन शांति विहार निवासी लक्ष्मी के घर आ रहा था। दोनों शाम चार बजे रुद्रपुर पहुंच गए थे। लोकेश मनीष को लेकर अपनी बहन के घर गया। भोजन करने के बाद शुक्रवार रात करीब नौ बजे दोनों स्कूटी से बाजार में घूमने की बात कहकर निकले।

इसके बाद लोगों ने दोनों को इंदिरा बंगाली कॉलोनी के पास पटरी पर घूमते हुए देखा। आसपास के लोगों का कहना है कि दोनों चलती ट्रेन के आगे सेल्फी ले रहे थे। लोगों ने उन्हें रोका भी लेकिन उन्होंने किसी की नहीं सुनी। इसी दौरान तेज गति से आ रही ट्रेन की टक्कर से दोनों पटरी के किनारे बह रहे नाले में जा गिरे। दोनों की मौके पर ही मौत हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शवों को कब्जे में ले लिया। मृतक योगेश की बहन महिला कांस्टेबल ने दोनों के शवों की शिनाख्त की।

शनिवार सुबह परिजनों के पहुंचने पर दोनों का पोस्टमार्टम किया गया। मृतक योगेश दो बहनों का अकेला भाई था। मनीष चार भाई बहनों में सबसे छोटा था। देर शाम तक उनकी स्कूटी बरामद नहीं हो सकी थी। सीओ रुद्रपुर अमित कुमार ने बताया कि ट्रेन के आगे सेल्फी लेने के दौरान यह दुर्घटना हुई थी। पोस्टमार्टम के बाद दोनों के शव परिजनों के हवाले कर दिए हैं।

विस्तार

देहरादून-काठगोदाम एक्सप्रेस की चपेट में आने से अल्मोड़ा के दो युवकों की मौत हो गई। दोनों युवक चलती ट्रेन के आगे सेल्फी ले रहे थे। ट्रेन की टक्कर से दोनों युवक रेलवे पटरी के किनारे बह रहे नाले में जा गिरे। मृतकों में एक युवक 31वीं वाहिनी पीएसी में तैनात महिला कांस्टेबल का भाई था, जबकि दूसरा उसका साथी था।

चलती ट्रेन के आगे सेल्फी ले रहे थे दोनों

पुलिस के मुताबिक, एडम स्कूल के निकट अल्मोड़ा निवासी लोकेश लोहनी (35) अपने साथी जल निगम कॉलोनी, अल्मोड़ा निवासी मनीष कुमार आर्या (25) के साथ शुक्रवार सुबह छह बजे अल्मोड़ा से रुद्रपुर के लिए निकला था। लोकेश 31वीं वाहिनी रुद्रपुर में तैनात अपनी कांस्टेबल बहन शांति विहार निवासी लक्ष्मी के घर आ रहा था। दोनों शाम चार बजे रुद्रपुर पहुंच गए थे। लोकेश मनीष को लेकर अपनी बहन के घर गया। भोजन करने के बाद शुक्रवार रात करीब नौ बजे दोनों स्कूटी से बाजार में घूमने की बात कहकर निकले।

इसके बाद लोगों ने दोनों को इंदिरा बंगाली कॉलोनी के पास पटरी पर घूमते हुए देखा। आसपास के लोगों का कहना है कि दोनों चलती ट्रेन के आगे सेल्फी ले रहे थे। लोगों ने उन्हें रोका भी लेकिन उन्होंने किसी की नहीं सुनी। इसी दौरान तेज गति से आ रही ट्रेन की टक्कर से दोनों पटरी के किनारे बह रहे नाले में जा गिरे। दोनों की मौके पर ही मौत हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शवों को कब्जे में ले लिया। मृतक योगेश की बहन महिला कांस्टेबल ने दोनों के शवों की शिनाख्त की।

शनिवार सुबह परिजनों के पहुंचने पर दोनों का पोस्टमार्टम किया गया। मृतक योगेश दो बहनों का अकेला भाई था। मनीष चार भाई बहनों में सबसे छोटा था। देर शाम तक उनकी स्कूटी बरामद नहीं हो सकी थी। सीओ रुद्रपुर अमित कुमार ने बताया कि ट्रेन के आगे सेल्फी लेने के दौरान यह दुर्घटना हुई थी। पोस्टमार्टम के बाद दोनों के शव परिजनों के हवाले कर दिए हैं।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here