लो वोल्टेज से राहत: हरिद्वार में पिटकुल का 132 केवी सब स्टेशन शुरू, इन क्षेत्रों में नहीं होगी अब बिजली गुल

0
0
लो वोल्टेज से राहत: हरिद्वार में पिटकुल का 132 केवी सब स्टेशन शुरू, इन क्षेत्रों में नहीं होगी अब बिजली गुल


Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

ख़बर सुनें

पावर ट्रांसमिशन कारपोरेशन ऑफ उत्तराखंड लिमिटेड(पिटकुल) ने हरिद्वार में 132 केवी सब स्टेशन शुरू कर दिया है। इसके लिए चीला-नजीबाबाद ट्रांसमिशन लाइन अगस्त में ही शुरू की जा चुकी है। पिटकुल के मीडिया प्रभारी प्रवीन टंडन ने बताया कि हरिद्वार के पदार्था में बढ़ती घरेलू व औद्योगिक बिजली की मांग व 132 केवी चीला-नजीबाबाद ट्रांसमिशन लाइन को 16 अगस्त से शुरू किया जा चका है।
 

अब 132 केवी सब स्टेशन हरिद्वार शुरू कर दिया गया है, जिससे लक्सर, ज्वालापुर व आसपास के क्षेत्रों में लो वोल्टेज जैसी समस्या दूर होगी। इसके अलावा इसके 220 केवी सब स्टेशन ऋषिकेश और 220 केवी सब स्टेशन रोशनाबाद से जुड़े होने के कारण वोल्टेज की क्षमता में सुुधार होगा। इससे 33 केवी पथरी, पीपली, भट्टीपुर, जगजीतपुर, ट्रांसपोर्ट नगर एवं पतंजलि फूड व हर्बल पार्क में निर्बाध बिजली आपूर्ति हो सकेगी।

132 केवी लिलो चीला-नजीबाबाद लाइन के निर्माण में पिटकुल ने पहली बार चार नगर, 72 मीटर ऊंचे टावर से गंगा नदी क्रॉस की है। इन टावरों का डिजाइन गंगा के अधिकतम जल स्तर व क्षेत्र में अधिकतम हवा की गति को ध्यान में रखकर किया गया है। पिटकुल के प्रबंध निदेशक अनिल कुमार ने चीफ इंजीनियर राजीव गुप्ता, सुपरीटेंडेंट इंजीनियर ललित कुमार, एक्जीक्यूटिव इंजीनियर विकल्प गौतम व सभी कर्मचारियों को शुभकामनाएं दीं।

विस्तार

पावर ट्रांसमिशन कारपोरेशन ऑफ उत्तराखंड लिमिटेड(पिटकुल) ने हरिद्वार में 132 केवी सब स्टेशन शुरू कर दिया है। इसके लिए चीला-नजीबाबाद ट्रांसमिशन लाइन अगस्त में ही शुरू की जा चुकी है। पिटकुल के मीडिया प्रभारी प्रवीन टंडन ने बताया कि हरिद्वार के पदार्था में बढ़ती घरेलू व औद्योगिक बिजली की मांग व 132 केवी चीला-नजीबाबाद ट्रांसमिशन लाइन को 16 अगस्त से शुरू किया जा चका है।

 

अब 132 केवी सब स्टेशन हरिद्वार शुरू कर दिया गया है, जिससे लक्सर, ज्वालापुर व आसपास के क्षेत्रों में लो वोल्टेज जैसी समस्या दूर होगी। इसके अलावा इसके 220 केवी सब स्टेशन ऋषिकेश और 220 केवी सब स्टेशन रोशनाबाद से जुड़े होने के कारण वोल्टेज की क्षमता में सुुधार होगा। इससे 33 केवी पथरी, पीपली, भट्टीपुर, जगजीतपुर, ट्रांसपोर्ट नगर एवं पतंजलि फूड व हर्बल पार्क में निर्बाध बिजली आपूर्ति हो सकेगी।


ये भी पढ़ें…Uttarakhand: कैबिनेट की बैठक आज, भर्ती परीक्षाओं को लेकर हो सकता है बड़ा फैसला

 

132 केवी लिलो चीला-नजीबाबाद लाइन के निर्माण में पिटकुल ने पहली बार चार नगर, 72 मीटर ऊंचे टावर से गंगा नदी क्रॉस की है। इन टावरों का डिजाइन गंगा के अधिकतम जल स्तर व क्षेत्र में अधिकतम हवा की गति को ध्यान में रखकर किया गया है। पिटकुल के प्रबंध निदेशक अनिल कुमार ने चीफ इंजीनियर राजीव गुप्ता, सुपरीटेंडेंट इंजीनियर ललित कुमार, एक्जीक्यूटिव इंजीनियर विकल्प गौतम व सभी कर्मचारियों को शुभकामनाएं दीं।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here