Ajab Gajab | Surprising sight seen on Mars | Scientists are also surprised to see the picture | मंगल ग्रह पर दिखा हैरान कर देने वाला नजारा, तस्वीर देख वैज्ञानिक भी आश्चर्यचकित

0
48
Ajab Gajab | Surprising sight seen on Mars | Scientists are also surprised to see the picture | मंगल ग्रह पर दिखा हैरान कर देने वाला नजारा, तस्वीर देख वैज्ञानिक भी आश्चर्यचकित

अमेरिकी एजेंसी नासा के एक वैज्ञानिक पर्सीवरेंस मार्स रोवर जो की मंगल ग्रह पर जीवन की खोज कर रहे हैं। पर्सीवरेंस मार्स रोवर हमेशा लाल ग्रह से कुछ न कुछ अनोखी तस्वीरें भेजते रहते हैं। ये तस्वीरें इतनी अनोखी होती हैं,कि इसे देख वैज्ञानिक भी हैरान रह जाते हैं। वहीं कभी- कभी ये तस्वीरें चर्चा का कारण भी बन जाती हैं। कुछ समय पहले ही पर्सीवरेंस मार्स रोवर ने एक तस्वीर भेजी थी, जिसमें लाल ग्रह पर हरा पत्थर दिखाई दे रहा था।

इसके पहले डायनासोर के मुंह जैसा पत्थर दिखा था। कभी-कभी मछली के आकार और इंसानी चेहरे जैसी आकृतियां भी दिखी हैं। इस बार भी पर्सीवरेंस मार्स रोवर लाल ग्रह से एक तस्वीर शेयर की है जो कि पहले भेजी हुई तस्वीर से बेहद अलग है।

अपने बोलने वाले हुनर से ये 5 तोते कटवा रहे है चिड़ियाघर की नाक, पर्यटकों को इस तरह करते है परेशान

पर्सीवरेंस मार्स रोवर ने इस बार जो तस्वीर भेजी है, उसमें कुछ अजीब सी आकृती दिख रही है। इस बार मंगल ग्रह पर एक अजीब सा पत्थर दिखाई दे रहा है जिसकी आकृति इंसान के पुट्ठे जैसी है। पर्सीवरेंस मार्स रोवर ने जब यहा तस्वीर जब नासा के हेडक्वार्टर्स में भेजी तो वैज्ञानिक भी देख कर हैरान रह गए। रोवर को यहा पत्थर जून में दिखाई दिया था।

ये तस्वीर सोशल मीडिया पर खूब वायरल भी हो रही है। नासा की जेट प्रोपल्शन लेबोरेटरी ने इस पत्थर को बट क्रैक रॉक नाम दिया है। इस फोटो को जेपीएल में काम करने वाले डेटा और सॉफ्टवेयर इंजीनियर केविन एम. गिल ने अपने ट्विटर अकाउंट से शेयर की है। केविन एम. गिल रोवर द्वारा भेजी गई खराब और टूटी-फूटी तस्वीरों को जोड़कर एक पूरी तस्वीर बनाने का काम करते हैं।

केविन एम. गिल ने ट्वीट के साथ कैप्शन में लिखा कि हमें बट क्रैक रॉक मिला है। वैज्ञानिक पर्सीवरेंस मार्स रोवर ने कुछ समय पहले एक तस्वीर शेयर की थी, जिसमें ब्राचियोसॉरस डायनासोर की गर्दन की तरह दिख रहा था।

वैज्ञानिको ने की ब्रह्मांड के दूसरे सबसे गर्म ग्रह की खोज, यहां सिर्फ 16 घंटे का होता है एक साल 

इससे अलावा पर्सिवरेंस रोवर ने एक हरे रंग के पत्थर की खोज की थी। मार्स पर्सिवरेंस रोवर को ये पत्थर तब दिखा जब वह इंजीन्यूटी हेलिकॉप्टर को सतह पर उतारने के बाद आगे बढ़ रहा था। इस रहस्यमयी हरे रंग के पत्थर को देखकर वैज्ञानिक भी हैरान थे।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here