DAV College: छात्र नेताओं ने कॉलेज का मुख्य रास्ता किया जाम, पुलिस से झड़प, प्राचार्य पर लगाए गंभीर आरोप

0
0
DAV College: छात्र नेताओं ने कॉलेज का मुख्य रास्ता किया जाम, पुलिस से झड़प, प्राचार्य पर लगाए गंभीर आरोप


Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

ख़बर सुनें

डीएवी पीजी कॉलेज में प्रवेश शुल्क प्रक्रिया ऑनलाइन के साथ ऑफलाइन करने की मांग को लेकर छात्र नेताओं का आंदोलन बढ़ता ही जा रहा है। सोमवार को छात्र नेताओं ने कॉलेज का मुख्य रास्ता जाम कर प्रदर्शन किया। साथ ही प्राचार्य पर प्रॉस्पेक्टस घोटाले का आरोप लगाते हुए उनके इस्तीफे की मांग की। इस दौरान छात्र नेताओं की पुलिस के साथ भी झड़प हुई।

छात्र नेता सुमित कुमार ने कहा कि सिर्फ ऑनलाइन प्रवेश शुल्क जमा करने की व्यवस्था से छात्रों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सर्वर के ठीक से काम न कर पाने के कारण छात्र शुल्क जमा नहीं कर पा रहे हैं। इस दौरान मेरिट सूची के अनुसार दाखिले की तिथि निकल जाती है। इसकी वजह से कई छात्र दाखिले से वंचित रह जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि कॉलेज में प्रॉस्पेक्टस के नाम पर भी घोटाला किया गया है, जिसकी उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिए। साथ ही जांच पूरी होने तक प्राचार्य को उनके पद से हटा दिया जाना चाहिए। प्रदर्शन के दौरान छात्रों ने कॉलेज का मुख्य रास्ता जाम कर दिया, जिससे परिसर में परीक्षा देने आए परिक्षार्थियों को आवागमन में परेशानियों का सामना करना पड़ा। हालांकि पुलिस ने रास्ता खुलवाने का प्रयास किया, लेकिन छात्र नहीं हटे और इस दौरान उनकी पुलिस से झड़प भी हो गई।

उधर, कार्यवाहक प्राचार्य एसपी जोशी ने बताया कि छात्रों की समस्याओं को लेकर ज्ञापन ले लिया गया है। कहा कि प्राचार्य डॉ. केआर जैन के अपने स्टैंड हैं। इन स्टैंडों के कारण छात्रों की ओर से प्राचार्य पर दबाव बनाया जा रहा है। प्रदर्शन करने वालों में पूर्व महासचिव नीरज चौहान, सुमित श्रीवास्तव, ऋषभ मल्होत्रा, उदित थपलियाल, अंजली चमोली, आकिब अहमद, यशवंत पंवार, हनी सिसोदिया, मनमोहन रावत, शोयेब, दिव्यांशु, अभिषेक ममगाईं आदि मौजूद रहे।

विस्तार

डीएवी पीजी कॉलेज में प्रवेश शुल्क प्रक्रिया ऑनलाइन के साथ ऑफलाइन करने की मांग को लेकर छात्र नेताओं का आंदोलन बढ़ता ही जा रहा है। सोमवार को छात्र नेताओं ने कॉलेज का मुख्य रास्ता जाम कर प्रदर्शन किया। साथ ही प्राचार्य पर प्रॉस्पेक्टस घोटाले का आरोप लगाते हुए उनके इस्तीफे की मांग की। इस दौरान छात्र नेताओं की पुलिस के साथ भी झड़प हुई।

छात्र नेता सुमित कुमार ने कहा कि सिर्फ ऑनलाइन प्रवेश शुल्क जमा करने की व्यवस्था से छात्रों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सर्वर के ठीक से काम न कर पाने के कारण छात्र शुल्क जमा नहीं कर पा रहे हैं। इस दौरान मेरिट सूची के अनुसार दाखिले की तिथि निकल जाती है। इसकी वजह से कई छात्र दाखिले से वंचित रह जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि कॉलेज में प्रॉस्पेक्टस के नाम पर भी घोटाला किया गया है, जिसकी उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिए। साथ ही जांच पूरी होने तक प्राचार्य को उनके पद से हटा दिया जाना चाहिए। प्रदर्शन के दौरान छात्रों ने कॉलेज का मुख्य रास्ता जाम कर दिया, जिससे परिसर में परीक्षा देने आए परिक्षार्थियों को आवागमन में परेशानियों का सामना करना पड़ा। हालांकि पुलिस ने रास्ता खुलवाने का प्रयास किया, लेकिन छात्र नहीं हटे और इस दौरान उनकी पुलिस से झड़प भी हो गई।

उधर, कार्यवाहक प्राचार्य एसपी जोशी ने बताया कि छात्रों की समस्याओं को लेकर ज्ञापन ले लिया गया है। कहा कि प्राचार्य डॉ. केआर जैन के अपने स्टैंड हैं। इन स्टैंडों के कारण छात्रों की ओर से प्राचार्य पर दबाव बनाया जा रहा है। प्रदर्शन करने वालों में पूर्व महासचिव नीरज चौहान, सुमित श्रीवास्तव, ऋषभ मल्होत्रा, उदित थपलियाल, अंजली चमोली, आकिब अहमद, यशवंत पंवार, हनी सिसोदिया, मनमोहन रावत, शोयेब, दिव्यांशु, अभिषेक ममगाईं आदि मौजूद रहे।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here