Omicron spreading through letters and parcels | क्या चिट्ठियों और पार्सल के जरिए फैल रहा है ओमिक्रोन? इस देश ने किया बड़ा दावा

1
3

Omicron spreading through letters and parcels

देश और दुनिया में कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन ने सभी की चिंताएं बढ़ा दी हैं। वैक्सीनेटेड लोगों के संक्रमित होने के बाद डॉक्टर्स की टीम के सामने एक नई चुनौती लाकर खड़ी कर दी है। ओमिक्रोन के मामले पूरी दुनिया में काफी तेजी से बढ़ रहे हैं। इसी बीच चीन ने दावा किया है कि चिट्ठियों और पार्सल्स के जरिए ओमिक्रोन काफी तेजी से फैल सकता है।

ये भी पढ़ें: Covid-19 के दौरान करें नारियल के तेल से गरारे, गले की खराश से मिलेगा आराम

दरअसल, चीन ने अपने शहर बीजिंग में ओमिक्रोन का पहला केस मिलने का दावा किया है। चीन का कहना है कि ओमिक्रोन की एंट्री उसके देश में विदेशों से आने वाली चिट्ठियों और पार्सल के जरिए हुई है। लेकिन आपको बता दें कि कोरोना की शुरुआत को एक्सपर्ट चीन के शहर बुहान से होने का दावा करते रहे हैं लेकिन चीन हमेशा इसे नकारता रहा है।

omicron-spreading-through-letters-and-parcels

हालांकि चीन के इस दावे को एक्सपर्ट संदेह की नजर से देख रहे हैं। चीन का कहना है कि चीन की एक महिला ओमिक्रोन से संक्रमित पाई गई है जो कि चीन में निकलने वाला पहला केस है और उस महिला की कोई ट्रेवल हिस्ट्री नहीं है। लेकिन कनाडा से आए एक पार्सल को सबसे पहले महिला ने खोला था जिसके बाद वह महिला ओमिक्रोन से संक्रमित हो गई। यह पार्सल कनाड़ा से हॉन्गकॉन्ग होते हुए चीन पहुंचा था।

लंदन स्कूल ऑफ हाइजीन एंड ट्रॉपिकल मेडिसिन में महामारी विज्ञान के शिक्षक प्रो डेविड हेमैन के अनुसार चिट्ठी में वायरस का जिंदा रहना कैसे संभव हो सकता है यह स्पष्ट नहीं है क्योंकि वायरस नमी वाले ड्रॉपलेट या बूंदों से फैलता है और सूखने के बाद संक्रामक होना बंद हो जाता है।

ये भी पढ़ें: ओमिक्रोन और कोरोना का नया लक्षण आया सामने, इस बॉडी पार्ट पर कर रहा है अटैक

Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों व दावों की Thinkarya.com पुष्टि नहीं करता है। इनको केवल सुझाव के रूप में लें। इस तरह के किसी भी उपचार/दवा/डाइट पर अमल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Source link

1 COMMENT

  1. Gargling With Coconut Oil For Sore Throat | Covid-19 के दौरान करें नारियल के तेल से गरारे, गले की खराश से मिलेगा आराम - Hindi News And Magazine

    […] ये भी पढ़ें: क्या चिट्ठियों और पार्सल के जरिए फैल र… […]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here