Ajab Gajab | Telia Bhola Fish | Digha Fisherman Turns Crorepati Overnight | जाल में फंसी अनोखी मछलियों से रातों-रात मालामाल हुए मछुआरे

0
3
telia-bhola-fish-digha-fisherman-turns-crorepati

Telia Bhola Fish

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

ओडिशा के दीघा में कुछ मछुआरें एक ही झटके में करोड़पति बन गए है। दरअसल, इन मछुआरों के जाल में एक खास मछली ‘Telia Bhola Fish’ फंस गयी थी और आपको जानकर हैरानी होगी कि इन 121 मछलियों की कीमत करीब दो करोड़ आंकी गयी है। इससे पहले कभी भी यह मछली इतनी बड़ी संख्या में मछुआरों के हाथों नहीं लगी थी।

इनमें से हर एक मछली का वजन करीबन 18 किलोग्रम तक आंका गया है।

ये भी पढ़ें: गिरगिट की तरह रंग बदलती है ये दुर्लभ मछली, लोग कहते हैं गोल्डन शौतान

रातों रात मछुआरों की किस्मत पलटी 

पिछले साल भी ये मछलियां दीघा तट पर पायी गई थी, लेकिन तब इनकी संख्या केवल 30 थी। उस समय इन मछलियों की कीमत 1 करोड़ रूपये  आंकी गई थी लेकिन इस बार जिस संख्या में इन मछलियों को दीघा तट पर पाया गया है, उसने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए है। इन मछलियों ने कई सारे मछुआरों की किस्मत रातों रात बदल दी।

telia-bhola-fish-digha-fisherman-turns-crorepati

ऐसा कहा जाता है की जहां ये मछलियां पायी जाती है वे समुद्र के गहरे हिस्से में होता है। वैसे तो समुद्र के इन गहरे हिस्सों में मछुआरों का जाना माना होता है, पर कई सारे मछुआरे लालच में आकर समुद्र के इन हिस्सों में चले जाते है, इनका कहना है कि ये मछलियां एक विशेष किस्म की होती है, जिनकी कीमत प्रति किलोग्राम 13,000 रूपयों के अनुसार आंकी जाती है,अनोखी मछली को तालचुआ इलाके में ढूंढा गया।

ओडिशा के राजनगर के एक छोटे से इलाके तालचुआ में पिछले ही साल एक अनोखी मछली को पकड़ा गया था। इन मछलियों को पिछले साल 10,000 रुपये प्रति किलोग्राम के अनुसार आंका गया था। हर एक मछली की कीमत 2 लाख रूपयों तक थी।

तब इन मछलियों का नाम नहीं बताया गया था। भारी संख्या में लोग इस प्रजाती की मछलियों को देखने के लिए इकठ्ठा हुए थे। इन मछलियों को बेचने से पहले इन मछलियों को देखने के लिए रखा गया ताकि सभी मछुआरों को इनकी जानकारी हो।

ये भी पढ़ें: कैलिफोर्निया के बीच पर दिखी धूप में नहाने वाली सनफिश, एक बार में देती है 30 करोड़ अंडे

क्यों है ‘Telia Bhola Fish’ इतनी महंगी

इन मछलियों का महंगा होने का बड़ा कारण है, उनका पेट जिसमें कई गुणकारी तत्वों को पाया जाता है। दूसरा इन मछलियों के सबसे बड़े खरीददार दवा कंपनियां है। ये मछलियां ज्यादातर दवाईयों को बनाने के लिए इस्तेमाल की जाती है।

ये भी पढ़ें: मेक्सिको की खाड़ी में नजर आया एलियन स्क्विड, देखकर वैज्ञानिक भी रह गये हैरान

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here