Uttarakhand: पहाड़ों पर सड़क दुर्घटनाएं रोकने के लिए बनेंगे क्रैश बैरियर, मानसून सीजन में हो चुके कई हादसे

0
4
Uttarakhand: पहाड़ों पर सड़क दुर्घटनाएं रोकने के लिए बनेंगे क्रैश बैरियर, मानसून सीजन में हो चुके कई हादसे


Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

ख़बर सुनें

पर्वतीय मार्गों पर लगातार हो रही सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के लिए शासन की ओर से सड़कों के किनारे क्रैश बैरियर लगाने के निर्देश दिए गए हैं। इसके साथ चिन्हित ब्लैक स्पॉट्स के सुधारीकरण और दीर्घकालीन उपायों को अपनाने के लिए कहा गया है।

मानसून सीजन में ही पर्वतीय मार्गों पर अनेक दुर्घटनाएं हो चुकी हैं। पहाड़ों में कई मुख्य सड़कों पर क्रैश बैरियर लगाए जाने की आवश्यकता है। इस संबंध में पूर्व में भी शासन स्तर पर कई बार निर्देश दिए जा चुके हैं, लेकिन अभी तक इनका सौ प्रतिशत पालन नहीं हो पाया है। अब एक बार फिर इस संबंध में मुख्य सचिव डॉ. एसएस संधु की ओर से निर्देश जारी किए गए हैं।

जिनमें कहा गया है कि पर्वतीय मार्गों पर सभी राष्ट्रीय राजमार्ग, राज्य राजमार्ग, मुख्य जिला मार्ग, अन्य जिला मार्गों पर स्थान चिह्नित कर शीघ्र क्रैश बैरियर लगाए जाएं। इस संबंध में सर्वोच्च न्यायालय की कमेटी की ओर से किए गए ऑडिट में पहले ही दिशा-निर्देश दिए जा चुके हैं, जिनका अनुपालन सुनिश्चित किया जाए। 

ये भी पढ़ें…Sidhu Moose Wala:  हत्यारोपियों के फर्जी पासपोर्ट बनाने वाला पकड़ा, बेटे की करतूत देख पिता ने लिया बड़ा फैसला

कार्यदायी संस्थाओं की ओर से पिछले दिनों जिन स्थानों को चिह्नित कर लिया गया है, वहां क्रैश बैरियर लगाने की कार्रवाई शीघ्र शुरू की जाए। इसके साथ ही संभावित दुर्घटना स्थलों को अति संवेदनशील एवं संवेदनशील श्रेणी में चिन्हित करते हुए प्राथमिकता के आधार पर सुधारीकरण का काम शुरू किया जाए।

विस्तार

पर्वतीय मार्गों पर लगातार हो रही सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के लिए शासन की ओर से सड़कों के किनारे क्रैश बैरियर लगाने के निर्देश दिए गए हैं। इसके साथ चिन्हित ब्लैक स्पॉट्स के सुधारीकरण और दीर्घकालीन उपायों को अपनाने के लिए कहा गया है।

मानसून सीजन में ही पर्वतीय मार्गों पर अनेक दुर्घटनाएं हो चुकी हैं। पहाड़ों में कई मुख्य सड़कों पर क्रैश बैरियर लगाए जाने की आवश्यकता है। इस संबंध में पूर्व में भी शासन स्तर पर कई बार निर्देश दिए जा चुके हैं, लेकिन अभी तक इनका सौ प्रतिशत पालन नहीं हो पाया है। अब एक बार फिर इस संबंध में मुख्य सचिव डॉ. एसएस संधु की ओर से निर्देश जारी किए गए हैं।

जिनमें कहा गया है कि पर्वतीय मार्गों पर सभी राष्ट्रीय राजमार्ग, राज्य राजमार्ग, मुख्य जिला मार्ग, अन्य जिला मार्गों पर स्थान चिह्नित कर शीघ्र क्रैश बैरियर लगाए जाएं। इस संबंध में सर्वोच्च न्यायालय की कमेटी की ओर से किए गए ऑडिट में पहले ही दिशा-निर्देश दिए जा चुके हैं, जिनका अनुपालन सुनिश्चित किया जाए। 

ये भी पढ़ें…Sidhu Moose Wala:  हत्यारोपियों के फर्जी पासपोर्ट बनाने वाला पकड़ा, बेटे की करतूत देख पिता ने लिया बड़ा फैसला

कार्यदायी संस्थाओं की ओर से पिछले दिनों जिन स्थानों को चिह्नित कर लिया गया है, वहां क्रैश बैरियर लगाने की कार्रवाई शीघ्र शुरू की जाए। इसके साथ ही संभावित दुर्घटना स्थलों को अति संवेदनशील एवं संवेदनशील श्रेणी में चिन्हित करते हुए प्राथमिकता के आधार पर सुधारीकरण का काम शुरू किया जाए।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here