Uttarakhand: सख्त हुई पुलिस, प्रदेश में अफवाह फैलाने वालों की अब खैर नहीं, लगेगा एनएसए

0
0
Uttarakhand: सख्त हुई पुलिस, प्रदेश में अफवाह फैलाने वालों की अब खैर नहीं, लगेगा एनएसए


Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

ख़बर सुनें

उत्तराखंड में अफवाह फैलाने वालों की अब खैर नहीं है। पुलिस ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी। डीजीपी अशोक कुमार ने कहा कि ऐसे लोगों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (एनएसए) के तहत कार्रवाई की जाएगी। 

इस बाबत उन्होंने प्रदेश भर के सभी पुलिस कप्तानों को निर्देश जारी किए हैं। दरअसल, एक दिन पहले रुड़की के पिरान कलियर में कुछ युवकों ने बच्चा चोरी के शक में तीन अनजान लोगों को पकड़कर मारपीट की थी। इस दौरान भीड़ एकत्रित होने के बाद बच्चा चोरी की अफवाह फैल गई थी। अफवाह फैलाने की लगातार बढ़ती घटनाओं को डीजीपी ने गंभीरता से लिया है।

डीजीपी ने कहा कि अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ पुलिस सख्ती से निपटेगी। कहा कि अफवाह के बाद हिंसा फैलती है, तो अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाई की जाएगी। कहा कि इस संबंध में प्रदेश के सभी जनपदों के पुलिस कप्तानों को निर्देेश जारी कर दिए गए हैं।

पिरान कलियर में बच्चा चोरी के शक में पीटने पर चार पर केस

पुलिस ने बच्चा चोरी की अफवाह फैलाकर एक व्यक्ति से मारपीट करने वाले चार युवकों पर केस दर्ज कर लिया है। बरेली के थाना सदर कैंट व हाल निवासी कलियर फैजान ने पुलिस को बताया कि वह शनिवार शाम टेंपो से कलियर आ रहा था। मेहवड़ पुल से वह पैदल ही कलियर की तरफ जाने लगा। इस बीच कुछ लोगों ने उसे रोक लिया और बच्चा चोर कहते हुए मारपीट करने लगे। पीड़ित ने किसी तरह भागकर जान बचाई। इस बीच किसी ने मारपीट का वीडियो बनाकर वायरल कर दिया। एसओ मनोहर सिंह भंडारी ने बताया कि वीडियो के आधार पर सलमान, दिलशाद, अकरम, इरशाद निवासी मेहवड़ और कई अज्ञात पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। एक आरोपी इरशाद को गिरफ्तार कर चालान किया गया है। अन्य लोगों की भी तलाश की जा रही है।  

बच्चा चोरी की अफवाहों से दूर रहें ग्रामीण : एसओ

पुलिस ने गांव-गांव घूमकर ग्रामीणों से वार्ता कर बताया कि बच्चा चोरी की अफवाहों पर ध्यान न दें। किसी के साथ बेवजह मारपीट न करें। थाना क्षेत्र के कुछ गांवों में भी संदिग्ध लोगों के दिखने का दावा किया जा रहा है। ग्रामीण इन्हें बच्चा चोरी करने वाले गैंग के सदस्य मानकर भयभीत हैं। कई जगह तो ग्रामीण चार-चार घंटों की पारी बनाकर पूरी रात पहरा दे रहे हैं। पुलिस ऐसे गैंग होने से साफ इनकार कर रही है। रविवार को थानाध्यक्ष अरविंद रतूड़ी और गोवर्धनपुर चौकी प्रभारी नवीन चौहान ने दो अलग-अलग टीम बनाकर खानपुर, माड़ाबेला, चंद्रपुरी बांगर, चंद्रपुरी खादर में घूमकर लोगों से बात की। पुलिस ने बताया कि कुछ शरारती लोग सोशल मीडिया पर अफवाहें उड़ा रहे हैं। 

विस्तार

उत्तराखंड में अफवाह फैलाने वालों की अब खैर नहीं है। पुलिस ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी। डीजीपी अशोक कुमार ने कहा कि ऐसे लोगों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (एनएसए) के तहत कार्रवाई की जाएगी। 

इस बाबत उन्होंने प्रदेश भर के सभी पुलिस कप्तानों को निर्देश जारी किए हैं। दरअसल, एक दिन पहले रुड़की के पिरान कलियर में कुछ युवकों ने बच्चा चोरी के शक में तीन अनजान लोगों को पकड़कर मारपीट की थी। इस दौरान भीड़ एकत्रित होने के बाद बच्चा चोरी की अफवाह फैल गई थी। अफवाह फैलाने की लगातार बढ़ती घटनाओं को डीजीपी ने गंभीरता से लिया है।

डीजीपी ने कहा कि अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ पुलिस सख्ती से निपटेगी। कहा कि अफवाह के बाद हिंसा फैलती है, तो अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाई की जाएगी। कहा कि इस संबंध में प्रदेश के सभी जनपदों के पुलिस कप्तानों को निर्देेश जारी कर दिए गए हैं।

पिरान कलियर में बच्चा चोरी के शक में पीटने पर चार पर केस

पुलिस ने बच्चा चोरी की अफवाह फैलाकर एक व्यक्ति से मारपीट करने वाले चार युवकों पर केस दर्ज कर लिया है। बरेली के थाना सदर कैंट व हाल निवासी कलियर फैजान ने पुलिस को बताया कि वह शनिवार शाम टेंपो से कलियर आ रहा था। मेहवड़ पुल से वह पैदल ही कलियर की तरफ जाने लगा। इस बीच कुछ लोगों ने उसे रोक लिया और बच्चा चोर कहते हुए मारपीट करने लगे। पीड़ित ने किसी तरह भागकर जान बचाई। इस बीच किसी ने मारपीट का वीडियो बनाकर वायरल कर दिया। एसओ मनोहर सिंह भंडारी ने बताया कि वीडियो के आधार पर सलमान, दिलशाद, अकरम, इरशाद निवासी मेहवड़ और कई अज्ञात पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। एक आरोपी इरशाद को गिरफ्तार कर चालान किया गया है। अन्य लोगों की भी तलाश की जा रही है।  

बच्चा चोरी की अफवाहों से दूर रहें ग्रामीण : एसओ

पुलिस ने गांव-गांव घूमकर ग्रामीणों से वार्ता कर बताया कि बच्चा चोरी की अफवाहों पर ध्यान न दें। किसी के साथ बेवजह मारपीट न करें। थाना क्षेत्र के कुछ गांवों में भी संदिग्ध लोगों के दिखने का दावा किया जा रहा है। ग्रामीण इन्हें बच्चा चोरी करने वाले गैंग के सदस्य मानकर भयभीत हैं। कई जगह तो ग्रामीण चार-चार घंटों की पारी बनाकर पूरी रात पहरा दे रहे हैं। पुलिस ऐसे गैंग होने से साफ इनकार कर रही है। रविवार को थानाध्यक्ष अरविंद रतूड़ी और गोवर्धनपुर चौकी प्रभारी नवीन चौहान ने दो अलग-अलग टीम बनाकर खानपुर, माड़ाबेला, चंद्रपुरी बांगर, चंद्रपुरी खादर में घूमकर लोगों से बात की। पुलिस ने बताया कि कुछ शरारती लोग सोशल मीडिया पर अफवाहें उड़ा रहे हैं। 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here