YANA CAVES, Karnataka, India. Best Travel Spot for Nature & Adventure!

YANA CAVES, Karnataka, India. Best Travel Spot for Nature & Adventure!
Spread the love
  • 29
    Shares

YANA CAVES, Karnataka, India. Best Travel Spot for Nature & Adventure! एक नए यात्रा ब्लॉग में आपका स्वागत है। आज मैं आपको याना गुफा तक ले जाऊंगा जो कर्नाटक में स्थित है। उत्तर कन्नड़ जिले में पश्चिमी घाटों के सदाबहार जंगलों के बीच याना की विशाल क्रिस्टलीय पत्थर की चट्टानें गर्व की साथ सर उठायें खड़ी हैं।

Yana Caves तीर्थयात्रियों, ट्रेकर्स और प्रकृति प्रेमियों के लिए एक आदर्श गंतव्य है। ठंडी और उबड़-खाबड़ पहाड़ियों के बीच से 16 किमी का ट्रेक आपको पहाड़ की तलहटी में ले जाता है जहाँ से चट्टान की संरचनाएँ शुरू होती हैं। जब आप शीर्ष पर पहुंचते है, तो वह एक आश्चर्यजनक व्यू आपका इंतजार कर रहा होता है जो है ख़ूबसूरत भैरवेश्वर और जगनमोहन शिखर।

भगवान शिव को समर्पित एक गुफा मंदिर इन शिखर से नीचे स्थित है। समय के चक्र ने इन चूना पत्थर संरचनाओं को काली भूरी और बहुत सारी मधुमक्खियों को चट्टान की सतह के रूप में बदल दिया है। If you want to travel North then must read about Dol Ashram, Uttarakhand.

YANA CAVES Mythology

याना से जुड़ी एक प्रचलित किंवदंती है कि भस्मासुर, एक दुष्ट दानव, भगवान शिव की तपस्या की और उसको शिव से वरदान प्राप्त हुव की जिस किसी के सिर पर वो हाथ रखेगा वो राख में बदल जायेगा। हालांकि, एक कृतघ्न भस्मासुर ने जल्द ही अपने दाता पर वरदान का परीक्षण करने का फैसला किया। उससे बचने के लिए, भगवान शिव पृथ्वी पर आए और याना में छिप गए। भगवान विष्णु ने एक सुंदर महिला मोहिनी का रूप ले लिया, दानव को नृत्य करने के लिए चुनौती दी और नृत्य करते हुवे अपने ही सर पर हाथ रखने के कारण वो स्वयं ही राख हो गया।

Why Visit Yana Cave

https://thinkarya.com/yana-caves-karnataka-india-best-travel-spot-for-nature-adventure/
Yana cave
  • Hike up to the rocks: Yana Caves अपने दो विशाल चट्टान संरचनाओं के कारण हाइकर्स को आकर्षित करती है, जिसे भैरवेश्वर पहाड़ी और मोहिनी पहाड़ी (ऊंचाई में 90 मीटर) के रूप में जाना जाता है।
  • Temples: भैरवेश्वरा पहाड़ी के नीचे एक शिव मंदिर है और ये माना जाता है कि यह स्वयं उभरा हुआ है। चट्टानों के ऊपर से शिव लिंग पर पानी टपकता है।
  • Bird Watching: याना चट्टानों और आस-पास के क्षेत्रों में बर्ड वाचिंग और स्पॉटिंग की संभावना बहुत अधिक है। अगर आप बर्ड लवर्स है तो ये जन्नत है आपके लिए।
  • Waterfalls: यात्रा के लिए विभूति वॉटरफॉल याना में एक उत्कृष्ट साहसिक गतिविधि होगी (याना से ट्रेक द्वारा 9.7 किलोमीटर, और अब तो सड़क सुविधा भी उपलब्ध है लेकिन सड़क मार्ग से 70 किलोमीटर।

How to reach Yana

Yana Caves की यात्रा भी मुरुदेश्वर (76 किलोमीटर), गोकर्ण (48 किलोमीटर) और कारवार (90 किलोमीटर) की यात्रा के साथ की जा सकती है, विशेष रूप से उन लोगों के लिए, जो बीच और समुन्द्र का भी आनंद लेना चाहते हैं। Read also about Location.

 

By Train: कुमता KSR, बेंगलुरु स्टेशन से याना का निकटतम रेलवे स्टेशन है। आप कारवार एक्सप्रेस पर आशा कर सकते हैं जो आमतौर पर प्रस्थान गंतव्य से सुबह 5:30 बजे के लिए निर्धारित है। मंगलुरु रेलवे स्टेशन से कुमटा के लिए भी ट्रेनें उपलब्ध हैं। करवार एक्सप्रेस मैसूरु रेलवे स्टेशन से होकर बेंगलुरु पहुंचती है, जहाँ से कुमटा होते हुए स्टेशन आता है, जो याना से 470 किलोमीटर दूर है।

By Road: यात्री या तो अपने स्वयं के वाहन ले जा सकते हैं और बेंगलुरु से याना तक smooth NH 48 से होकर जा सकते हैं, जो लगभग 470 किलोमीटर और सड़क मार्ग से 9 घंटे के करीब है। KSRTC (कर्नाटक राज्य सड़क परिवहन निगम) और निजी बसों के साथ-साथ बेंगलुरु से कुमता तक बस कनेक्टिविटी है। याना, सिरसी का निकटतम शहर, लगभग 30 किलोमीटर है और गंतव्य तक पहुंचने में लगभग 1 घंटा लगता है। याना का अगला निकटतम शहर हुबली-धारवाड़ है, जो लगभग 104 किलोमीटर की दूरी पर है या सड़क से यात्रा के 3 घंटे के करीब ले जाता है।

By Air: कुमटा के लिए निकटतम हवाई अड्डा डेबोलीम हवाई अड्डा है, कुमाता तक पहुँचने के लिए गोवा और बाकी के तट से भी वेल कनेक्टेड है। आप या तो सार्वजनिक स्थानों पर टैक्सी ले सकते हैं या याना या कुमटा या आसपास के स्थानों में अपने आवास तक पहुंचने के लिए पब्लिक परिवहन प्रयोग कर सकते हैं।


Spread the love
  • 29
    Shares
About

Hi! I am Bipin Arya founder of Thinkarya.com is a Lucknow based Travel Blogger and Hospitality Professional. This blog is all about my experiences, research and memories based.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*